आप भी नही जानते होंगे पीरियड के दौरान शारीरिक संबंध बनाने से जुड़ी ये सच्चाई

पीरियड्स के दौरान शारीरिक संबंध बनाने को लेकर अलग-अलग लोगों के मन में अलग-अलग सोच आया करती है। कुछ लोगों को ऐसा लगता है कि पीरियड के दौरान शारीरिक संबंध बनाने से महिलाओं को इसके नुकसान का सामना करना पड़ता है। वहीं कुछ लोगों की माने तो पीरियड के दौरान शारीरिक संबंध बनाना लोगों के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होते हैं। ज्यादातर लोगों को इसके पीछे की पूरी सच्चाई के बारे में पता नहीं होता। इसलिए आज हम आपको बताएंगे कि पीरियड के दौरान शारीरिक संबंध बनाने को लेकर कही जाने वाली बातों में कितनी सच्चाई है या फिर झूठ छिपी होती है। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से…

..०

ऐसा कहा जाता है कि जब कभी पीरियड्स के दौरान महिलाओं को बहुत ज्यादा दर्द का सामना करना पड़ता है उस दौरान अगर महिलाएं शारीरिक संबंध बनाती है तो ऐसे भी उनके दर्द ठीक हो जाते हैं। इसके साथ ही साथ पीरियड्स के दौरान शारीरिक संबंध बनाने से उनके गर्भधारण करने की संभावना काफी हद तक कम हो जाती है। इसलिए अगर कोई व्यक्ति शारीरिक संबंध बनाने का भरपूर आनंद उठाने के साथ साथ गर्भधारण करने की समस्या सेबचना चाहता है। तो उसे प्रयोग के दौरान अपने महिला पार्टनर के साथ शारीरिक संबंध बनाने चाहिए।

..

कई महिलाओं का स्वभाव पीरियड्स के दौरान पूरी तरह से बदल जाता है। पूरी तरह से स्वभाव के बदल जाने की वजह से महिलाएं पहले से ज्यादा चिड़चिड़ा और गुस्सा महसूस करने लगती है। ऐसे में अगर पीरियड के दौरान शारीरिक संबंध बनाया जाए तो महिलाओं का चिड़चिड़ापन और गुस्सा काफी हद तक कम हो जाता है। आपको बता दें कि पीरियड के दौरान शारीरिक संबंध बनाने से एंडोर्फिन्स और ऑक्सीटॉसिन नामक हार्मोन निकलते हैं जो कि दिमाग को शांत करने में अपनी अहम भूमिका निभाते है

..

वैज्ञानिकों के मुताबिक पीरियड के दौरान शारीरिक संबंध बनाने से स्त्री या पुरुष को किसी भी तरह की समस्या का सामना नहीं करना पड़ता। पीरियड के दौरान शारीरिक संबंध बनाने के पहले हर एक व्यक्ति को बस साफ-सफाई का ज्यादा ध्यान रखना होगा जिससे की किसी भी तरह की इन्फेक्शन के होने का चांसेस काफी हद तक कम हो जाए।