आया साल का बड़ा सूर्यग्रहण सूर्य अस्त होते ही इन 5 राशि वालों की चमकेगी किस्मत

साल 2019 में तीन सूर्यग्रहण और दो चंद्रग्रहण पड़ेंगे। सबसे पहला सूर्यग्रहण 5 जनवरी, 2019 को होगा। इसके बाद 21 जनवरी को चंद्रग्रहण होगा जो दिन के समय में लगेगा। मगर भारत में यह दोनों ही नजर नहीं आएंगे। 

साल का पहला सूर्य ग्रहण 5 जनवरी 2019 दिन शनिवार पौष कृष्ण पक्ष अमावस्या की अर्ध रात के बाद भोर में अर्थात 6 जनवरी दिन रविवार की सुबह लग रहा है। साल 2019 में तीन सूर्यग्रहण और दो चंद्रग्रहण पड़ेंगे। 

ज्योतिषाचार्य पं दिवाकर त्रिपाठी पूर्वांचली ने बताया कि भारतीय वैदिक ज्योतिष में ग्रहण का बहुत ज्यादा महत्व है। ग्रहण को धार्मिक दृष्टि से अत्यन्त महत्त्वपूर्ण माना जाता है। रविवार की सुबह में लगने वाला सूर्य ग्रहण भारत में दृश्य नही है। अतःधार्मिक दृष्टि से कोई विशेष महत्त्व नही है फिर भी ग्रहीय पर प्रभाव अवश्य पड़ेगा।

यह आंशिक सूर्य ग्रहण उत्तर-पूर्वी एशिया और उत्तरी पैसिफिक देशों में दिखाई देगा या अर्थात जापान, कोरिया, मंगोलिया, ताइवान और रूस व चीन के पूर्वी छोर के अलावा अमेरिका के पश्चिमी हिस्से में भी यह ग्रहण दिखेगा। भारतीय समयानुसार ग्रहण 5 जनवरी की रात अर्थात 6 जनवरी की भोर में सुबह 04.05 बजे के लगभग शुरू होगा और 9.18 बजे खत्म हो जाएगा।

नए साल के पहले महीने जनवरी में दो ग्रहण पड़ रहे हैं. 6 जनवरी यानि की रविवार को आंशिक सूर्य ग्रहण पड़ने वाला है. सूर्य ग्रहण 6 जनवरी 2019 सुबह 4.05 बजे से 9.18 बजे तक लगेगा. हालांकि यह भारत में यह देखने को नहीं मिलेगा. ज्योतिषाचार्य के मुताबिक, यह आंशिक सूर्य ग्रहण उत्तर-पूर्वी एशिया और उत्तरी पैसिफिक देशों में दिखाई देगा. 

इसी महीने लगेगा चंद्रग्रहण
सूर्य ग्रहण के बाद इसी महीने की 21 तारीख को चंद्रग्रहण लगने वाला है. ज्योतिषाचार्य के मुताबिक, साल का पहला 9.03 बजे से 12.20 बजे तक रहेगा. सूर्य ग्रहण की तरह, चंद्रग्रहण भी भारत में नहीं दिखाई देगा.

क्या है सूर्य ग्रहण की पौराणिक कथा
वेदों, पुराणों और शास्त्रानुसार सूर्य और चंद्र पर लगने वाले ग्रहण का सीधा ताल्लुकात राहु और केतु से है. धार्मिक मान्यता के अनुसार दैविक काल में जब देवताओ को अमृत पान 

और दैत्यों को वारुणी पान कराया जा रहा था तब इस बात की खबर दैत्य राहु को हुआ. दैत्य राहु ने छुपकर देवता की पंक्ति में जाकर बैठ गया परन्तु अमृत पान के पश्चात इस बात को सूर्य और चंद्र को उजागर कर दिया. 

ऐसी भी मान्यता है कि समुद्र मंथन में अमृत के लिए देवाताओं और असुरों के बीच घमासान चल रहा था. समुद्र मंथन में अमृत देवताओं को मिला लेकिन असुरों ने उसे छीन लिया. अमृत को वापस लाने के लिए भगवान विष्णु ने मोहिनी नाम की सुंदर कन्या का रूप धारण किया और असुरों से अमृत को छीन लिया. 

आज हम आपको इस लेख के माध्यम से बताने वाले है की साल का पहला सूर्यग्रहण जो 6 जनवरी को लगने जा रहा है इसमें तीन राशि वालों की किस्मत चमकने वाली है और इनकी हर समस्या अब खत्म होने वाली है |तो आइये आपको बताते है कौन सी हैं वो तीन राशियाँ

मेष राशि :


ग्रहण के बाद मेष राशि के लोगों के लिए यह ग्रहण कई सारे सकारात्मक परिणाम लेकर आया है|इस राशि के जातकों को इस दौरान आर्थिक लाभ होने के योग हैं। जीवनसाथी के साथ अच्छा समय व्यतीत करेंगे।

आपके जीवन में बहुत से नए बदलाव आएंगे जो आपके लिए फायदेमंद साबित होंगे|संतान की ओर से खुशखबरी मिल सकती है। समाज में मान-सम्मान और प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी।

कुम्भ राशि

ये सूर्य ग्रहण आपके लिए लाभदायी रहेगा। फिलूजखर्ची का योग है जिसपर काबू करने की जरूरत है। किसी भी सरकारी काम में सफलता मिलेगी। संतान की तरफ से चली आ रही चिंता से मुक्ति मिलेगी।

आपका भाग्योदय हो सकता है। इस राशि के लोगों को भारी धनलाभ के योग हैं। जीवन की नई शुरुआत कर सकते हैं।अपनी जिम्मेदारियों को मन लगाकर निभाएंगे|

तुला राशि :

इस राशि के लोगों का समय अत्यधिक लाभदायक रहेगा। किसी प्रियजन से मुलाकात हो सकती है। जमीन और जायदाद से संबंधी लेनदेन में धन प्राप्ति के योग हैं। इस राशि के जातकों को सरकारी नौकरी मिलने के भी योग हैं। प्रेम प्रसंग के मामलों में सफलता मिलेगी।पैसों के मामले में ग्रहण आपके सारे दोषों को खत्म कर देगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *