महिलाये नारियल का फल क्यों नहीं तोडती, इसके पीछे है ये बहुत...

महिलाये नारियल का फल क्यों नहीं तोडती, इसके पीछे है ये बहुत बड़ी वजह

227
0

जैसा की आप सभी जानते हैं कि नारियल का इस्तेमाल हिंदू धर्म के लगभग सभी शुभ कार्यों में किया जाता है। नारियल को हिंदू धर्म में श्रीफल के नाम से भी जाना जाता। और लगभग हर पूजा-पाठ में नारियल का इस्तेमाल प्रसाद के रूप में किया जाता है। नारियल से जुड़ी पौराणिक मान्यता यह है कि जब भगवान विष्णु पृथ्वी पर प्रकट हुए थे, तो वह स्वर्ग से अपने साथ माता लक्ष्मी, कामधेनु गाय तथा नारियल के वृक्ष को लेकर आये थे। विष्णु जी के साथ इस फल का नाम जुड़ा होने के कारण इसे श्रीफल का नाम दिया गया। ऐसा माना जाता है कि इस फल में साक्षात ब्रह्मा, विष्णु तथा महेश का वास होता है। यही वजह है कि इस फल का धार्मिक बहुत ही ज्यादा है।

पौराणिक मान्यता के अनुसार महादेव को नारियल का फल अत्यंत प्रिय है। आप सभी ने नारियल पर स्थित तीन नेत्रों को देखा होगा। ऐसी मान्यता है कि यह तीन नेत्र भगवान शिव के त्रिनेत्र को प्रदर्शित करते है। अब हम आपको बताने जा रहे है एक ऐसे नियम के बारे में, जिसका पालन हम सब करते हैं।

आपने देखा होगा कि पूजा के बाद नारियल फोड़ने का शुभ कार्य पुरुषों द्वारा ही किया जाता है। अक्सर आपके मन में यह ख्याल आता होगा कि, आखिर महिलाएं नारियल क्यों नहीं फोड़ती हैं। अगर कभी आपके मन में भी इस तरह का सवाल उठा होगा तो इसका जवाब आज आपको इस पोस्ट पर मिलेगा। आज हम आपको बताने वाले हैं कि, महिलाओं के नारियल न फोड़ने के पीछे की पौराणिक मान्यता क्या है

नारियल

दरअसल पौराणिक मान्यता के अनुसार नारियल एक बीज फल है जो उत्पादन का प्रचनन का कारक है। जो कि स्त्रियां बीच रिश्तों रूप में ही शिशु को जन्म देती है। यही कारण है कि स्त्रियों को नारियल रूपी बीज को नहीं तोड़ना चाहिए। स्त्रियों द्वारा नारियल को तोड़ना शास्त्रों में बहुत ही अशुभ माना गया है।

नारियल का फल हिंदू धर्म के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। लगभग सभी शुभ कार्यों में नारियल का इस्तेमाल विभिन्न तरीकों से किया जाता है। पूजा-पाठ से लेकर शादी विवाह तक हर जगह नारियल का उपयोग किया जाता है। धार्मिक उपयोगिता के अलावा, नारियल का फल स्वास्थ्य के लिए भी बहुत ही लाभकारी होता है। इसके भरपूर मात्रा में कैलोरी पाई जाती है। साथ ही नारियल की तासीर ठंडी होती है। गर्मियों में इसका सेवन करने से शरीर को ठंडक मिलती है। कच्चे नारियल का इस्तेमाल ठंडे पेय के रूप में भी किया जाता है।