जिस वक़्त अक्ल बंट रही थी, ये 15 नमूने लंच ब्रेक पर गए थे, वरना ऐसी हरकतें न करते

दुनिया में दो तरह के प्राणी पाए जाते हैं. पहले वो, जो कोई भी काम करने से पहले अपने दिमाग़ का इस्तेमाल करना जानते हैं, दूसरे वो जिन्हें दिमाग़ ख़र्च करने में काफ़ी आलस आता है

कुछ व्यक्ति ऐसे होते है जो दिमाग का बिलकुल भी उसे यूज़ नहीं करते है. कुछ तस्वीरें देखा कर हसी आएगी और कुछ में चौक जाओगे.

पहली तस्वीर ने ही दिन बना दिया

एक आदमी छत से फ़िसल गया था, उसके बाद नज़ारा कुछ ऐसा था.

ऐसे कारनामे करने की हिम्मत लोगों में आती कहां से है?

ये काम इनके लिए बाएं हाथ का खेल है.

डर के आगे जीत है.

टॉयलेट ठीक करने आया ये प्लबंर खिसका हुआ लग रहा है.

दिमाग़ का दही कर देने वाली फ़ोटो.

ब्रेक लेने के लिए इन्हें यही जगह मिली थी?

अब बोलो अकल बड़ी या भैंस.

इन्हें सीढ़ियों की ज़रूरत नहीं है.

इन्हें मौत से नहीं, ज़िंदा रहने से डर लगता है!

धन्य हो प्रभु

रोबोट बनाने के चक्कर में ये जाएगा, पक्का.

कोई तो रोक लो भाई!

नमूनों की कमी नहीं है दुनिया में.

SOURCE