ये छोटी-सी चीज़ मर्दों में भर देगी तूफ़ान सी ताकत

ये छोटी-सी चीज़ मर्दों में भर देगी तूफ़ान सी ताकत

170
0

रोजमरा की व्यस्त लाइफस्टाइल की वजह से ना समय पर खाना हो पाटा हैं ना ही पानी. जिस वजह से लोगों की हेल्थ से जुड़ी समस्याएं खाड़ी हो जाती है. काम से लौटने तक हर कोई इतना थक जाता है कि घर पहुंचते-पहुंचते हालत बुरी हो जाती है. ऐसे में अगर पुरुष रोजाना सुबह खालीपेट लहसुन की एक कली खाते हैं तो इससे कई बीमारियों के इलाज में मदद मिलेगी और दिनभर शरीर में एनर्जी भी बनी रहेगी.

दरअसल लहसुन में एलिसिन जैसे न्यूट्रिएंट्स होते हैं. जो शरीर को कई हेल्थ प्रॉब्लम से बचाते हैं, लहसुन में सेलेनियम भी पाई जाती है जो बॉडी में जाते ही अपना असर दिखाना शुरू कर देती है. सेलेनियम पुुरुषों की फर्टिलिटी बढ़ाने में काफी मदद करती है.


साथ ही लहसुन में एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज के गुण भी पाए जाते हैं. इससे सांस और मुंह की बदबू दूर होती है. आयुर्वेद के अनुसार लहसुन खाने से पुरुषों को बहुत से फायदें होते है.

लहसुन में मौजूद प्रोटीन से बॉडी टोंड होती है. लहसुन में कार्बोहाइड्रेट्स होत हैं। इससे कमजोरी दूर होती है. बॉडी को एनर्जी मिलती है. लहसुन में पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम होता है. इससे हड्डियां मजबूत होती हैं. इसमें मौजूद एलिसिन से फैट बर्निंग प्रॉसेस तेज होती है. इससे वजन कंट्रोल रखने में मदद मिलती है.

लहसुन में मौजूद फाइबर्स कब्ज और पेट दर्द की प्रॉब्लम दूर करते हैं. इससे कमजोरी दूर होती है. बॉडी को एनर्जी मिलती है. लहसुन में पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम होता है. इससे हड्डियां मजबूत होती हैं. इसमें मौजूद एलिसिन से फैट बर्निंग प्रॉसेस तेज होती है.


पुरुषों की मर्दानगी के लिए घातक बेल्ट का इस्तेमाल, होता है ये बड़ा नुकसान

फैशन के दौर में सभी को फैंसी बेल्ट बंधना पसंद है. लेकिन कुछ लोगों को तो बेल्ट बांधने की आदत ही होती है, बेल्ट के बिना उनका एक कदम चलना उनके लिए मुश्किल हो जाता है. ये आदत पुरुषों के लिए एक बड़ी मुसीबत की वजह भी बन जाती है. जिस वजह से पुरुषों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है.

जी हां, रोजाना टाईट बेल्ट बांधने से दिनभर पेट की नर्व्स दबी रहती हैं. ऐसा लंबे समय तक करने से पेल्विक रीजन से निकलने वाली आर्टरी, वेन्स, मसल्स और आंतों पर प्रेशर पड़ता है. इसके कारण स्पर्म काउंट कम हो सकता है, जिससे पुरुषों की फर्टीलिटी घटने की आशंका बढ़ जाती है.

आयुर्वेद का कहना है कि अगर जरूरी नहीं है तो बेल्ट न पहनें और अगर पहनना ही है तो बेल्ट ढ़ीला करके पहनें नहीं तो बेल्ट और फैशन के चक्कर में पुरुषों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है.


बेल्ट पहनने वाले पुरुषों पर रिसर्च की गई है जिसमें यह बात सामने आई कि कमर पर टाइट बेल्‍ट बांधने से एब्डॉमिनल मसल्स के काम करने का तरीका बदल जाता है. साथ ही लंबे समय तक टाइट बेल्ट बांधने से रीढ़ की हड्डी में अकड़न आ सकती है. वही सेंटर ऑफ ग्रेविटी में भी बदलाव आता है इसके कारण घुटनों के जोड़ों पर भी जरूर से ज्यादा प्रेशर पड़ता है, जिससे ज्वाइंट पेन की प्रॉब्लम बढ़ती है.

साथ ही और भी कई समस्याएं हो सकती है. बेल्ट पहनने की वजह से खाने का डाइजेशन ठीक से नहीं हो पाता है. एसीडिटी की समस्या हो सकती है. स्पर्म काउंट कम हो सकता है. इतना ही नही आपके पैरों में भी स्वेलिंग आ सकती है.